समूचा विश्व जब कोविद १९ नामक दैत्य  से जूझ रहा था, तब हम आई सी सी के साथियों के ऊपर एक वज्रपात हुआ. २० मार्च २०२० को हमारे प्रिय साथी कामरेड किशन ने हमसे अंतिम विदाइ ली. कामरेड किशन के  यूं चले जाने से इंडियन सैक्शन को ही नहीं पूरी आई सी सी की भारी क्षति हुई है.  हमें  हमेशा  ही उनकी कमी खलेगी. कामरेड किशन ने आई सी सी को सुद्रढ़ बनाने में एक महत्वपूर्ण  योग्दान दिया है . वे अपने जीवन की अंतिम साँस तक उच्चतम  भावना के साथ लड़ाकू योद्धा बने रहे....